जेटली और केजरी की जोर आज़माइश

दिल्ली सचिवालय में CBI के छापे और प्रधान सचिव को पूछताछ के लिए ले जाने के बाद , आम आदमी पार्टी के द्वारा प्रेस कान्फ्रेंन्स किया गया । आप नेताओं ने आरोप लगाया हैं कि जेटली के कार्यकाल में बड़ा वित्तीय घोटाला हुआ था । जब जेटली DDCA के प्रमुख थे , और वे इस पद पर 13 वर्षो तक कार्यरत थे ।
आप के प्रवक्ता राघव चड्ढा की माने तो यह स्पष्ट है कि जेटली अपने कार्यकाल के दौरान बड़े पैमाने पर हुए घपलों मे सहभागीदार थे । प्रधानमंत्री अगर CBI की जाँच में पक्षपात नहीं कर रहे , तो तुरंत जेटली का इस्तीफा ले लेना चाहिए ।
अब चलते है जेटली की सफाई की तरफ जहाँ उन्होनें पलटवार करते हुए कहा कि मेरे ऊपर आरोप का झूठा प्रचार किया जा रहा हैं , 2014 और 2015 के कुछ फैक्ट के आधार पर केजरीवाल मुझे DDCA के विवाद में अनायास खींच रहे हैं ।
इन दोनों पक्षो की बातों के मद्देनजर यह बात तो स्पष्ट हो ही जाता कि घोटाले तो हुए हैं । लेकिन जिम्मेदार कौन हैं ?
सारी बातें छोडिए अगर AAP को जेटली के आरोपों की जानकारी थी । तो उसने इसे इससे पहले सार्वजनिक क्यों नहीं किया ?
इस वाकया से यहीं साबित होता है कि अगर तुम हमारी बातें सार्वजनिक करोंगे , तो हम भी  तुम्हारा पर्दाफ़ाश करने में कसर नहीं छोडे़गे ।
जेटली और केजरी की चक्कर में आम आदमी के साथ विश्वासघात  , और सबका विकास तो कम से कम नहीं रुकना चाहिए ।
अब मेरा निवेदन है दोनों जन से , कि अपना जोर आज़माइश जारी रखे ।

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: