युगाब्द पुरुष विवेकानंद

आचार से अपरिचित विचार वाली परंपराओं , रुढ़ियों , प्रथाओं , अन्याय , अत्याचार , भ्रष्टाचार आदि मिटाने का श्रेय युगाब्द पुरुष , कोलकाता की माटी को प्रेरक बनाकर , भारत में राष्ट्रीय अखण्डता के लिए युवाओं को पास पास लाने वाले , विश्व मंच पर अपनी बात मनवाने वाले , भारत जागो विश्व जगाओं जैसे उद्घोष से एक जनक्रांति पैदा करने वाले , सही समय पर आकर अपने ऊर्जा को देश के हित में लगाने वाले , किसी भी  देश में युवाओं को उसका काम धाम बताने वाले , देश के युवाओं को फौलाद बनाने वाले , स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस पर हमें हमारा उत्तरदायित्व समझकर हमेशा राष्ट्रहित में काम करना चाहिए । देश का अगर एक पत्ता भी  हिले तो हमें पता होना चाहिए क्योंकि ऐसा विवेकानंद ने ही कहा था ।
आज हमें विवेकानंद को पढ़ना चाहिए  , समझना चाहिए । और एक ऊर्जा के भण्डार होने के नाते अपनी जिम्मेदारी को समझकर हमेशा राष्ट्रवाद के लिए काम करना चाहिए ।

Abhijit Pathak

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: