लीक से हटना यानि system पर ध्यान

दुनिया में समय – समय पर जो भी लीक से हटकर काम करने वाले आयें , उन्होनें ने यह साबित करना चाहा कि आखिरकार हमें कैसे अपने वजूद को बनायें रखना हैं । उन्होनें अपनी कही बातों को दुनिया के सामने रखा , और उसे समझाने की पूरी कोशिश की । आप सभी  जानते हैं कि दुनिया में दो चिजें होती हैं । पहला होता हैं system (निकाय ) और दूसरी surrounding .
अब जिस बिषय को हम पढ़ते हैं , वह हमारे लिए उस समय के लिए system हुआ । या यूं कहे कि जिस पर भी  हम कुछ सोच रहें है , कर रहें हैं , देख रहें हैं , हँस रहे है , यानि हमारे लिए दुनिया की हरेक गतिविधि , जिसमें हमारा कोई विजन हो , उसे हम system कहते हैं । और system के अलावा जो भी  इस संसार में हैं , वह हमारे लिए surrounding हुई । तो हमें सबसे ज्यादा concentrate कहा करना है । अपने system पर  । दुनिया की कोई ताक़त इस काबिल नहीं है कि आपको आपके निर्धारित मुकाम तक जाने से रोक दें ।
    
                                  – अभिजीत पाठक

Abhijit Pathak

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: