भारत विरोधी नारे : क्यों ?

JNU के बाद अब जादवपुर विश्वविद्यालय में भी अफजल समर्थक नारेबाजी कर रहें हैं । कितनी शर्मनाक बात हैं कि जिस देश में जी खा रहें हैं , उसी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं ।क्या इन्हें छात्र कहना उचित हैं ? छात्र विनम्र होने चाहिए । छात्र को नैतिक अनैतिक का अन्तर पता होना चाहिए । इन लोगो को अन्दाजा नहीं हैं कि ये किस हद तक जा रहे हैं ।

Abhijit Pathak

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: