अपने शिक्षकों का अभिवादन

विश्वगुरू ‘भारत’ को मै अभिजीत एक विद्यार्थी के तौर पर प्रणाम करता हूं. स्वामी विवेकानंद ने शिक्षक और विद्यार्थी के संबंधों की जो ताजदारी की है वैसी बहुत कम देखने को मिलती है.
मार्गदर्शक आपके बनावट का कारीगर होता है. दुनिया में जो लोग आज भी पढ़े-लिखे जा रहे हैं. उनके पीछे एक प्रभावपूर्ण शिक्षक का हाथ रहा होगा.
कई बार ऐसी घटनाएं होती है, जो आने वाली नस्लों से इस बात का फक्र नहीं कर पाती कि मेरे शिक्षक मुझे बहुत स्नेह देते थे. 
शिक्षक द्वारा डांट खाना, उनके स्नेह का अप्रत्यक्ष रूप है. आपकी परवाह करने वाले लोग ही आपको डांटते हैं.
ईश्वर; शिक्षक की समकक्षता स्वीकार कर सकते हैं, उस समय जब वो पालक से निर्वाण के लिए उपदेश देने लग जाएं, कहने का मतलब ये है कि उस दशा में एक ईश्वर शिक्षक बन सकता है, जब वो उपदेशक के लिहाज से शिक्षा देने लग जाए.
कई बार ऐसे धुरंधर इस देश में पैदा हुए, जिनकी वजह से उनके शिक्षक देश दुनिया में चर्चित हुए.
दरअसल, ऐसा तभी मुमकिन हुआ होगा जब वो अपने शिक्षक से एक नाता बरकरार रखते हुए आगे बढ़ा होगा.
दुनिया के बड़े सामाजिक, शैक्षिक और वैचारिक सुधार में भारत के शिक्षकों का एक बड़ा योगदान रहा है.
इस बात को जानकर हैरत होता है कि गुरू-परंपरा पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ाते रहने की एक अनुपम रीति भारत में थी.
शिक्षक आपकी अक्षमताओं को बड़ी चतुरता से समझकर उसके निदान की कोशिशों में जुट जाता है.
वैसे मेरे ज्ञात विज्ञात शिक्षकों में एक लम्बा क्रम है, बहुत शिक्षक #Facebook नहीं चलाते. उस कड़ी में मेरे क्लास 4 के गणित के अध्यापक रामपति यादव से मैने बहुत कुछ सीखा. अनीता राय मेरी हिंदी की टीचर क्लास आठ में रही. क्लास दस में मेरे पिताजी जनार्दन पाठक संस्कृत के विद्वान प्राध्यापक हैं जिनसे बहुत सारी बातें आज भी सीखा करता हूं.
#AdministritiveAcademy में बीएससी करने के दौरान दो महत्वपूर्ण शिक्षक मेरे जीवन में सुधार की आधारशिला रखने वाले बनें. जिनमें #Chemistry के Pawan Gautam और पर्यावरण के बारे में बहुत सारी जानकारियां देने वाले जलवायु पत्रिका के संपादक Ajay Gautam रहे.
बीएससी के बाद इंडिया टुडे में पत्रकारिता की पढ़ाई के दौरान Hemant Madhav KaushikAlok Puranik Priyanka Gupta Prashant Kothari Shashidhar NanjundaiahSusmita Bala मेरे लिए किसी आदर्श गुरू से कम नहीं हैं. ये मेरे आत्मीय लोगों से ज्यादा मेरे हितैषी हैं. आप सभी को प्रणाम.
इंटर्नशिप के दौरान Mihir K Kumar Mihir Ranjan Pankaj Sharma Dhirendra RaiMriegank Shekhar Parul Chandra Abhishek Pandey Vineet Dubey के मार्गदर्शन में मैने बहुत सारी चीजें सीखीं.
शिक्षकों का आगमन मेरी जिंदगी में बदस्तूर जारी है. जाॅब के दौरान भी बहुत लोग आपको मार्गदर्शन देते हैं, जिनको भी शिक्षक दिवस बधाई देनी चाहिए और शुक्रिया कहना चाहिए.
न्यूज़स्ट्रीट में मुझे कई शिक्षक मिलें जिनमें Alok Verma Ashutosh Sahai Ashish Tiwari Sonu Kumar Hasnain Hassan Ls Krishna हैं.
आप सभी को इस विशेष दिवस की दिली मुबारकबाद और आप सभी के मार्गदर्शन का आभारी रहूंगा. शुक्रिया

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: