भगतसिंह का नशा बनाम सुशांत सिंह का नशा!

जब आप सुशांत सिंह राजपूत मामले में ऐसी अवधारणा बना के चल रहे हैं कि उनका इस्तेमाल हुआ तो आप कहीं ना कहीं उनके इंजीनियर दिमाग पर कमजोरी का धब्बा लगा रहे हैं. क्योंकि इस्तेमाल कोई उसी का कर सकता है, जिसमें इस्तेमाल या शोषण करने वाला शोषित होने वाले से तेज दिमाग का हो.Continue reading “भगतसिंह का नशा बनाम सुशांत सिंह का नशा!”