संवेदनशील रचनात्मकता का दूसरा नाम: स्मृति सिंह

((हमारे बैच में रचनात्मक लोगों की कोई कमी नहीं थी. और संवेदनशील रचनात्मकता की कोशिश जुहाने वाला कोई बैचमेट मिल जाए. अहा! फिर तो पूछिए ही मत. इसका मतलब ये समझ लीजिए कि घनघोर जंगल में किसी ने सभ्यता की कुटिया बना दी हो.)) स्मृति सिंह चंदेल! एक नाम जिसको सुनते ही मन में आदरContinue reading “संवेदनशील रचनात्मकता का दूसरा नाम: स्मृति सिंह”