ITMI संस्मरण: “प्रकृति इज माय डैड”- शुभांग चौहान

शुभांग भाई का व्यक्तित्व एकदम अलहदा है. क्लास में कोई ऐसा नहीं होगा, जिसकी खिंचाई शुभांग चौहान ने ना की हो. यहां तक की मेरी कविता और बोलने के तरीके की भी नकल कर सबको खूब हंसाते. कोई इस बात का बुरा क्यों माने जब जिंदगी की तमाम उलझनों से बाहर निकालने वाला कोई दोस्तContinue reading “ITMI संस्मरण: “प्रकृति इज माय डैड”- शुभांग चौहान”