अलविदा 2015

बीते वर्ष पर हमकों एक नज़र दौड़ा लेना चाहिए  , 2015 जिसने हमें एक सुनहरे रास्ते पर कदम बढ़ाने का मौक़ा दिया । और साथ ही साथ कुछ ऐसे अनुभवों से वाकिफ हुए , जो हमारे लिए हमेशा के लिए यादगार बना रहेगा । 2015 ने अपनी तरफ से पूरा प्रयास किया था कि हमे कुछ नया सीखा कर जाये । हाँ , जरुर हमने नये तरीके से सोचना सीखा । लेकिन हमारी कुछ लापरवाही या गंभीरता ना दिखाने का कारण , हमारे अन्दर पूरी तरह से बातों को समेटने की क्षमता को कुछ कम कर दिया ।
जो काम 2015 में हमने गंभीरता से नहीं किया , आज यह वादा करे कि उसे पूरा करने के लिए जी जान लगा देंगें ।।

Abhijit Pathak

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: