बिहार में देशी शराब बंद , बिकती रहेगी अंग्रेजी बोतले ।

बिहार विधानमंडल ने बिहार उत्पाद विधेयक 2016 के तहत कुछ बड़े बदलाव किये हैं । जिसमें पहला यह हैं कि ग्रामीण इलाको में दोनों प्रकार की शराबों पर रोक लगा दिया गया । लेकिन शहरी इलाकों की 650 दुकानों पर केवल और केवल विदेशी शराब बेचने की अनुमति दी  हैं । ऐसे में एक चौकाने वाली बात पटना नगर निगम क्षेत्र में शराब की 90 नई सरकारी दुकाने खोली जायेंगी ।

देशी शराबों की वजह से सरकार को वित्तीय वर्ष 2015-16 में 2159 करोड़ का फायदा (उत्पाद शुल्क के रूप में ) हुआ था । कुछ लोगों का मानना हैं कि अगर जिला प्रशासन ईमानदारी से काम करेंगी तो शायद बिहार में सरकार की मनसा को पूरा किया जा सकता हैं । और दूसरी तरफ कुछ लोग यह मान रहे हैं कि इस कदम से देशी शराब की तश्करी बढ़ेगी , और यह तश्करी उत्तर प्रदेश और झारखंड से होने की पूरी संभावना बन रही  हैं ।

स्वास्थ्य विभाग  सभी जिलों में 50 बेड वाली नशा मुक्ति केन्द्र खोलने की योजना की तैयारी में जुट चुकी हैं । देखिए , बिहार सरकार अपने मुहिम में कामयाब हो पाती हैं या नहीं ।

Published by Abhijit Pathak

I am Abhijit Pathak, My hometown is Azamgarh(U.P.). In 2010 ,I join a N.G.O (ASTITVA).

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: